मुंबई के असली ‘सिंघम’ हैं समीर वानखेड़े, कोई कितना भी बड़ा सेलेब्रिटी हो, नहीं सुनते!

0
10

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने शनिवार को मुंबई से गोवा जा रही क्रूज पर छापा मारकर भारी मात्रा में ड्रग्स बरामद किया है. इस मामले में एनसीबी लगातार बॉलीवुड स्टार शाहरुख खान (Shahrukh Khan) के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan) समेत 8 लोगों से पूछताछ कर रही है. इस पूरे मामले के बीच एक नाम और है जो चर्चा में है और वो है समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) का.

एनसीबी मुंबई के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े टिप के आधार पर यात्री बनकर क्रूज पर पहुंचे थे. उनके साथ एनसीबी के और भी कई अधिकारी मौजूद थे. क्रूज पर जैसे ही पार्टी शुरू हुई, वैसे ही एनसीबी की टीम ने छापा मार दिया और वहां से 8 लोगों को हिरासत में ले लिया. जांच के दौरान एनसीबी ने ड्रग्स भी बरामद की है.

पिछले साल जब सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत के बाद बॉलीवुड में ड्रग्स एंगल सामने आया था, तब भी समीर वानखेड़े का नाम चर्चा में आया था. समीर वानखेड़े को ‘सिंघम’ कहा जाता है और माना जाता है कि उनके नाम से बॉलीवुड सेलेब्रिटीज डरते भी हैं.

कौन हैं समीर वानखेड़े? महाराष्ट्र के रहने वाले समीर वानखेड़े 2008 बैच के आईआरएस अधिकारी हैं. भारतीय राजस्व सेवा ज्वाइन करने के बाद उनकी पहली पोस्टिंग मुंबई के छत्रपति शिवाजी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर डिप्टी कस्टम कमिश्नर के तौर पर हुई थी. उनकी काबलियत की वजह से ही उन्हें बाद में आंध्र प्रदेश और फिर दिल्ली भी भेजा गया. उन्हें नशे और ड्रग्स से जुड़े मामलों का विशेषज्ञ माना जाता है.

समीर वानखेड़े के नेतृत्व में ही पिछले दो सालों के अंदर करीब 17 हजार करोड़ रुपये के नशे और ड्रग्स रैकेट का पर्दाफाश किया गया. पिछले साल ही समीर वानखेड़े को डीआरआई से नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो में ट्रांसफर किया गया है. ये भी पढ़ें– बीच समंदर NCB की सबसे बड़ी कार्रवाई, यात्री बनकर ऐसे किया हाई प्रोफाइल ड्रग्स पार्टी का भंडाफोड़

सेलेब्रिटी से टकराते रहे हैं समीर वानखेड़े समीर वानखेड़े अपनी ड्यूटी के प्रति काफी ईमानदार हैं और जब ड्यूटी की बात होती है तो उन्हें इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि सामने कौन है. वानखेड़े जब मुंबई एयरपोर्ट पर डिप्टी कमिश्नर के तौर पर तैनात थे, तो उन्होंने अपने जूनियर्स को सेलेब्रिटीज के पीछे भागने से रोक दिया था. वो बॉलीवुड सितारों को बिना टैक्स दिए जाने नहीं देते थे.

दरअसल, कोई भी यात्री विदेश से 35 हजार रुपये तक का सामान ला सकता है, लेकिन उससे ज्यादा का सामान होने पर 36% कस्टम टैक्स देना होता है. अगर सामान की कीमत 5 लाख रुपये से ज्यादा होती है तो कस्टम अधिकारी उसे गिरफ्तार कर सकते हैं.

बताते हैं कि वानखेड़े बॉलीवुड एक्ट्रेसेस के नखरों से परेशान भी हो गए थे. इसके अलावा कानून कहता है कि कस्टम ड्यूटी से गुजरते वक्त हर यात्री को अपना सामान खुद उठाना पड़ेगा, लेकिन बॉलीवुड स्टार्स अपने असिस्टेंट से सामान उठवाते थे. वानखेड़े के मुताबिक, वो ऐसा इसलिए करते थे ताकि विदेश से ज्यादा सामान लाने पर उन्हें रोका न जाए, क्योंकि अधिकारी उनके असिस्टेंट को नहीं रोक सकते थे.

इसके बाद उन्होंने तय कर दिया कि हर यात्री अपना सामान खुद ही उठाएगा. वानखेड़े ने आज तक को दिए एट इंटरव्यू में बताया था, ‘सेलेब्रिटीज माहौल बनाते थे. वो मुझे धमकी देते थे कि वो सीनियर्स से मेरी शिकायत करेंगे. लेकिन जब मैं उन्हें बताता था कि यहां सबसे सीनियर मैं ही हूं तो उनके पास लाइन में लगने के अलावा और कोई रास्ता नहीं होता था.’

एक बार वानखेड़े एक दिग्गज क्रिकेटर के एक्टर बेटे और एक अन्य क्रिकेटर की पत्नी से जबरदस्त बहस हो गई थी. जब इन्होंने वानखेड़े से बहस की तो उन्होंने कहा कि वो टैक्स चोरी के आरोप में उन्हें गिरफ्तार भी कर सकते हैं. इसके बाद मामला शांत हुआ और उन्होंने फाइन भरा.

जब क्रिकेटर की बात को भी कर दिया अनसुना ऐसा ही एक किस्सा 2011 के वर्ल्ड कप के दौरान का है. बताया जाता है कि उस वक्त एक मशहूर क्रिकेटर ने वानखेड़े से कहा कि वो उनके दोस्त को शराब की 18 बोतलें एयरपोर्ट से लाने दें. साउथ अफ्रीका से आए उनके दोस्त ने अपने क्रिकेटर दोस्त को फोन लगाया और वानखेड़े को दे दिया. वानखेड़े ने उनकी बात को ध्यान से सुना लेकिन 16 बोतलों पर कस्टम ड्यूटी लगा दी. क्योंकि नियमानुसार सिर्फ दो बोतल ही ला सकते हैं.

वानखेड़े केवल दो हस्तियों को ही मानते हैं. पहले हैं अजय देवगन, क्योंकि उन्होंने कभी टैक्स देने से मना नहीं किया और दूसरी हैं मराठी एक्टर क्रांति रेडकर, जो उनकी पत्नी हैं. समीर वानखेड़े और क्रांति ने 2017 में शादी की थी. प्रकाशक:aajtak