एसडीएम के घर कुछ नहीं मिला तो चोर ने गुस्‍से में छोड़ा नोट- पैसे नहीं थे तो क्यों लगाया लॉक

0
9

चोरों को कुछ नकदी और ज्‍यूलरी तो मिली लेकिन कलेक्‍टर के घर से चोरों को कुछ बड़े सामान की उम्मीद थी । इसी वजह से वो गुस्‍से में खत छोड़ गए ।

New Delhi, Oct 12: मध्य प्रदेश के देवास जिले से बड़ा मजेदार मामला सामने आया है । यहां डिप्टी कलेक्टर यानी एसडीएम के यहां चोरों ने वारदात को अंजाम दिया। इतना ही नहीं, जब अधिकारी के घर में चोरों को कुछ नहीं मिला तो उन्होंने वहां एक नोट लिखकर छोड़ दिया। जिस पर लिखा था, ‘जब पैसे नहीं थे तो लॉक ही नहीं करना था कलेक्टर’। चोरों ने जब पूरा घर खंगाला होगा तो उन्‍हें कुछ भी ज्यादा कीमती सामान नहीं मिला। जाते वक्त चोरों ने एसडीएम के नाम चिट्ठी लिखकर अपना यही गुस्सा उतारा।

नहीं मिला कुछ तो बौखला गए चोर
जिन अधिकारी के घर चोरी हुई उनका नाम त्रिलोचन गौड़ है, इनका आवास शहर के सिविल लाइन में है। गौड़ खातेगांव तहसील में पदस्थ हैं, इसी वजह से वो पिछले 15 दिन से घर पर नहीं थे । लिए करीब 15 दिन सेmp thief letter to sdm (2) उनका घर सूना था। इसी दौरान उनके सरकारी आवास में पिछले दिनों चोरी की वारदात हो गई। शनिवार शाम को जब वे देवास स्थित सरकारी आवास पर वापस आए तो उन्होंने ताला टूटा देखा। घर में ज्यादा सामान नहीं मिलने से चोर बौखला गया और एक पत्र एसडीएम के नाम छोड़ गए थे ।

लॉक नहीं करना था कलेक्‍टर
चोरों ने एसडीएम के नाम जो पत्र छोड़ा उसमें लिखा था- जब पैसे नहीं थे तो लॉक भी नहीं करना था कलेक्टर। दरअसल, एसडीएम का सरकारी आवास सांसद निवास के बिल्कुल पास ही है। शनिवार को mp thief letter to sdm (3)जब एसडीएम आवास में लौटे तो उन्होंने ताला टूटा देखा। पुलिस को सूचना दी, तभी कुर्सी पर उन्हीं की डायरी और पेन का उपयोग कर एक पन्ना मिला। जिसमें लिखा था, ‘जब पैसे नहीं थे तो लॉक भी नहीं करना था कलेक्टर’।

चोर की उम्‍मीदों पर फिरा पानी
चोर को शायद उम्मीद रही होगी कि सरकारी अधिकारी के आवास में mp thief letter to sdm (4)उनकी मौज हो जाएगी, नकदी और ज्वेलरी मिलेगी ।  लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ, इसी वजह से वो जब घर से लौटे तो नाराज होकर पत्र छोड़ गए । हालांकि एसडीएम ने 30 हजार नकद, एक अंगूठी, चांदी की पायल और सिक्के चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज कोतवाली में दर्ज करवाई है ।