VEGETABLES & POTATO PRICE: खुशखबरी! त्योहारी सीजन में सस्ती हुईं सब्जियां, जानिए क्या हैं आलू, प्याज और टमाटर की नई कीमत

0
6

त्यौहार की वजह से सब्‍जी बाजार में चहल-पहल बढ़ने लगी है। सब्जियों की बिक्री भी बढ़ गई है। इसके बाद भी थोक व्‍यापारी और किसानों के माथे पर चिंता की रेखा है। दाम कम करने के बाद भी हरी सब्जियों के खरीदार नहीं बढ़े। इससे हरी सब्जियां खराब हो रही है। इसका कारण है थोक बाजार मंडी में काफी मात्रा में हरी सब्जियों की आवक है।

नवरात्रि के त्योहार पर सब्जी मंडी में बना सन्नाटा मंगलवार को भी बना रहा। हालांकि यह सन्‍नाटा धीरे-धीरे टूटने जरूर लगा, लेकिन सब्जियों के दाम में और गिरावट हो गई है। सब्जियों के थोक दाम में कमी की वजह से मंडी में सब्जियों की आवक बहुत अधिक होना है। बिक्री न होने से हरी सब्जियां बहुत ज्यादा बर्बाद भी हो रही हैं।

सब्जियों की कीमत में आई भारी गिरावट

थोक मंडी में बुधवार को कुंदरू पांच रुपये किलो, नेनुआ, तरोई, कद्दू चार से पांच रुपये किलो, अरवी छह से सात रुपये किलो, बैगन आठ से 10 रुपये किलो बिका। टमाटर का दाम और घटकर 15 से 20 रुपये किलो हो गया है। लौकी पांच से छह रुपये पीस बिकी। मंगलवार तक टमाटर का थोक रेट 20 से 25 रुपये किलो था।

प्याज के दाम फिर बढ़े

फुटकर में टमाटर 40 रुपये किलो, प्याज 40 रुपये किलो, नेनुआ 15 से 20 रुपये किलो, अरुवी 20 रुपये किलो, गोभी 10 से 20 रुपये पीस, बैगन 30 से 40 रुपये किलो, लौकी 10 से 20 रुपये पीस, परवल 30 से 40 रुपये किलो और कद्दू 20 से 30 रुपये किलो है।

करीब 10 दिन पहले सब्जियों की कीमतें चढ़ गई थीं। तब गोला आलू नौ से 10 रुपये किलो, जी-फोर आलू 13 से 14 रुपये किलो, प्याज का दाम 21 से 22 रुपये किलो, नेनुआ का रेट 14 से 15 रुपये किलो, भिंडी का दाम 11 से 12 रुपये किलो, लौकी 12 से 15 रुपये पीस और कद्दू आठ से 10 रुपये किलो हो गया था।