बेटे ने माँ के 50वें जन्म दिन पर दिया सरप्राइज उपहार करवाया हेलीकॉप्टर में सैर!

0
4

दोस्तों आज हम आपको एक ऐसे बेटे के बारे में बताने जा रहे हैं इसमें इस युग के श्रवण कुमार की झलक देखने को मिली है। इस बेटे ने अपनी मां की कई सालों पुरानी तमन्ना को पूरा किया है। आपको बता दें कि इस बेटे ने अपनी मां के 50 में जन्मदिन के अवसर पर अपनी मां को एक ऐसा तोहफा दिया है जिसने इसकी मां के बरसो पुराने ख्वाब को पूरा कर दिया।

इस बेटे ने अपनी माँ को उनके 50वें जन्मदिन पर हेलीकॉप्टर की सैर करवाई है ।बेटे द्वारा दिए गए इस अनोखे उपहार को प्राप्त करने के बाद इस माँ की आंखें नम हो गई और उन्होंने अपने बेटे को दुआ देते हुए कहा कि भगवान ऐसा बेटा सभी को दें। बता दें कि अब इस बेटे द्वारा दिया गया यह तोहफा चर्चा का विषय बन चुका है ।

इस महिला का नाम रेखा दिलीप गरड है और यह महाराष्ट्र के सोलापुर की निवासी है ।शादी होने के बाद रेखा अपने पति के साथ उल्लासनगर में ही निवास करने लगी थी। लेकिन काफी समय पहले जब उनके बच्चे छोटे थे तभी उनके पति की एक दुर्घटना में मौत हो गई। उस वक्त इन का बड़ा बेटा केवल सातवीं कक्षा में पढ़ाई करता था। पति के अचानक चले जाने के बाद रेखा के ऊपर कठिनाइयों का पहाड़ आ गिरा और उन्होंने अकेले ही अपने तीन बच्चों का पालन पोषण किया ।

अपने बच्चों पालने के लिए रेखा ने लोगों के यहां काम करनाल शुरू किया। इनके बड़े बेटे प्रदीप को रेखा ने आश्रम स्कूल में पढ़ाया लेकिन उनके बड़े बेटे ने भी कड़ी मेहनत और लगन के साथ पढ़ाई की और उसके बाद नौकरी हासिल की। जब प्रदीप केवल 12वीं क्लास में थे तब उनके घर के पास हेलीकॉप्टर उड़ा था और उनकी मां ने कहा था कि क्या कभी ऐसा भी होगा जब हम हेलीकॉप्टर पर बैठ पाएँ।

प्रदीप के मां की यह बात उनके मन में ऐसी घर कर गई कि नौकरी लगने के बाद धीरे-धीरे उन्होंने तरक्की पाई और चॉल से निकल कर फ्लैट में रहने लगे।इस दौरान प्रदीप ने शादी की और यह दो बच्चों के पिता भी बने लेकिन उन्हें इस दौरान यह बात याद रखी कि उनकी मां की इच्छा है कि वह हेलीकॉप्टर में घूमती।

उसके बाद प्रदीप को एक विचार आया कि उनके मां के 50 वें जन्मदिन पर वह अपनी मां को हेलीकॉप्टर से आसमान की सैर करवाएंगे और उन्होंने इसके लिए अपनी सारी तैयारियां भी शुरू कर दी वाह मां के 50 वें जन्मदिन पर उन्हें जुहू एयरबेस पर ले गए और उनकी मां को बताया था कि वह उन्हें सिद्धिविनायक मंदिर के दर्शन करवाने के लिए ले जा रहे हैं।

लेकिन जब वह एयरवेज पर पहुंची तो उनको बेटे के सरप्राइस के बारे में मालूम चला और उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। बेटे के इस उपहार को देखकर के मां अपनी भावनाओं पर नियंत्रण नहीं रख सकी,उन्होंने यह सोचा भी नहीं था कि उनका बेटा उनकी इच्छा को इतनी शिद्दत से पूरा करने के लिए प्रयास कर रहा है। इस माँ ने कहा कि भगवान सभी को वैसा बेटा दे और इसके बाद माँ के 50 वें जन्मदिन पर इस पूरे परिवार ने अपनी माँ के साथ हेलीकॉप्टर की सवारी की।