17 की थीं जब महाराज को दिल दे बैठीं सिमी गरेवाल, 3 साल में टूटा दिल, बच्चे न होने का आज तक दुख

0
1

सिमी गरेवाल महज 17 साल की उम्र में अपने पड़ोसी जामनगर के माहराज को दिल दे बैठी थीं। अफसोस की इस प्‍यार की उम्र बड़ी कम रही ।

New Delhi, Oct 18: बॉलीवुड की वेटरन एक्‍ट्रेस सिमी गरेवाल आज भी उतनी ही खूबसूरत दिखती हैं जितनी 30 साल पहले दिखा करती थीं । उन्‍हें लेडी इन वाइट के नाम से जाना जाता है, क्‍योंकि वो अधिकतर सफेद लिबास में ही नजर आती हैं । सिमी के लाखों चाहने वाले हैं, जो उन पर प्‍यार लुटाते रहते हैं । लेकिन वो खुद किस पर दिल हार बैठीं थीं, आगे बताते हैं आपको ।

जामनगर के महाराज पर आया दिल
कई सालों पहले फिल्मफेयर मैग्जीन से बातचीत में सिमी गरेवाल ने अपने दिल की बात कही थी । Simi Garewalउन्‍होंने मैगजीन इंटरव्‍यू में कहा-  ’17 साल की उम्र में मैं अपने पड़ोसी जामनगर के महाराज को दिल दे बैठी थी। ये उतार-चढ़ाव से भरा अफेयर लगभग तीन साल तक चला था। इस अफेयर में मैंने जानवरों की दुनिया देखी, खेल और खाने के बारे Simi Garewalमें जाना।’  सिमी कहती हैं, ‘हमने बहुत सी बेहतरीन चीजें की। आज मैं मुड़कर वापस देखती हूं तो स्माइल करती हूं। मुझे अब समझ आया कि किसी पर मालिकान हक जमाना रिलेशनशिप को खराब कर सकता है।’

रवि मोहन से की शादी
एक्‍ट्रेस सिमी गरेवाल ने इसके बाद दिल्ली के चुन्नामल घराने के रविमोहनSimi Garewal से शादी की थी। ये शादी भी महज तीन साल तक चली । सिमी ने कहा, ‘हम दोनों अच्छे लोग थे पर एक दूसरे के लिए नहीं बने थे। ये एक लंबी दूरी वाली शादी थी।’ सिमी ने बताया –  ‘हम अलग-अलग रहने लगे और एक दशक बाद तलक ले लिया था। अच्छी बात ये है कि हमारे बीच कोई भी गिले-शिकवे नहीं थे। मैं आज भी उनके परिवार के काफी करीब हूं।’

बच्चा ना होने का गम
सिमी गरेवाल ने कहा, ‘मेरी जिंदगी का सबसे बड़ा अफसोस है कि मेरा कोई बच्चा नहीं है। मैं एक वक्त बेटी को गोद लेने के बेहद करीब थीं। मैं एक अनाथालय गई जहां मुझे एक विजया नाम की लड़की मिली, Simi Garewalजिसके घरवालों ने रेलवे स्टेशन में छोड़ दिया था।’उन्‍होंने आगे बताया- ‘नियमों के मुताबिक, मुझे उसके फोटोग्राफ अखबार में छपवानी थी। तीन महीने तक किसी ने बच्चे पर हक नहीं जमाया। दो महीने तक उसके माता-पिता की खबर नहीं आई। जैसे ही मुझे उसकी कस्टडी मिलने वाली थी उसके पेरेंट्स आ गए। मेरा दिल टूट गया।’