2022 में शनि देव की कृपा से मकर, धनु, कुंभ और मीन राशि वालों को मिलेगा जबरदस्त लाभ, जानिए किन बातों का ध्यान रखना चाहिए

0
13

साल 2022 में कई बड़े ग्रहों की राशि में परिवर्तन होगा। इस सूची में शनि भी शामिल है। शनि के राशि परिवर्तन का प्रभाव सभी 12 राशियों पर पड़ेगा। शनि के प्रभाव से कुछ राशियों को शुभ फल मिलेंगे और कुछ राशियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। जानिए वर्ष 2022 में धनु, मकर, कुंभ और मीन राशि के लोगों पर क्या प्रभाव पड़ेगा-

धनु लग्न:- धनु लग्न में शनि देव धन और पराक्रम के कारक ग्रह हैं। इसी कारण इसे मध्यम फल देने वाला ग्रह कहा जाता है। वर्ष 2022 में आप धन के घर में स्वयंभू स्थिति में उपस्थित होकर अपना प्रभाव स्थापित करेंगे। इस आने वाले वर्ष में धनु लग्न के जातक धन के स्रोत में वृद्धि करेंगे। वाणी व्यवसाय, बिक्री बाजार, अध्ययन, अध्यापन, राजनीति के क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए समय अनुकूल रहेगा।

मेहनत के फल में सकारात्मक प्रभाव देगा। परिवार में कोई नया काम पूरा होने की पूरी संभावना रहेगी। शनि की दृष्टि सुख, अष्टम और लाभ भाव पर होगी, ऐसे में सीने में तकलीफ, माता की पीड़ा, तनाव या घर और वाहन से संबंधित खर्च, पैर में चोट या दर्द, पेट की अंदरूनी समस्या, पेशाब में संक्रमण आदि। समस्या तनाव की हो सकती है।

उपायः श्री हनुमानजी महाराज की आराधना से लाभ होगा।

मकर लग्न :- मकर लग्न में शनि विवाह और धन का कारक होता है। ऐसे में शनि शुभ ग्रह के रूप में प्रभाव स्थापित करते हैं। वर्ष 2022 में शनि देव मकर राशि में लग्न भाव में होकर प्रभाव स्थापित करेंगे। लग्न का स्वयंभू होना बड़ी बात है। शश नाम का पंच महापुरुष योग की रचना कर प्रभाव स्थापित करेगा। ऐसे में मनोबल ऊंचा बना रहेगा। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। सामाजिक, पद प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। नेतृत्व क्षमता बढ़ेगी।

विचार उच्च रहेंगे। लेकिन जिद बढ़ने से दांपत्य जीवन में तनाव पैदा हो सकता है। प्रेम संबंधों में अनबन बनी रहेगी। साझेदारी को लेकर रुकावट या तनाव की स्थिति भी बन सकती है। पराक्रम में वृद्धि होगी, भाई-बहनों और मित्रों का सहयोग बाधित होगा। तुला राशि के दशम भाव पर शनि की दृष्टि से मान-सम्मान में वृद्धि, नौकरी में वृद्धि और परिवर्तन की संभावना रहेगी, रोजगार के साधनों में भी प्रगति होगी।
उपाय: मूल राशिफल के अनुसार नीलम रत्न धारण करने से लाभ होगा।

कुम्भ लग्न:- कुम्भ लग्न के जातकों के लिए शनि देव परम राजयोग कारक ग्रह हैं, जो लग्न में हैं। हालांकि खर्च भी होते हैं, लेकिन लग्नेश होने के फायदे आपूर्तिकर्ता के रूप में प्रभाव स्थापित करते हैं। इस वर्ष 2022 में मकर राशि बारहवें भाव में गोचर करेगी, जिसके फलस्वरूप व्यय में अधिकता आएगी। घर से दूरी, कोई बड़ी यात्रा भी हो सकती है। व्यापार या रोजगार के सिलसिले में राज्य या विदेश की यात्रा भी हो सकती है। शनि की दृष्टि दूसरे भाव पर होगी, ऐसे में वाणी की तीव्रता में वृद्धि होगी, पारिवारिक तनाव में वृद्धि होगी, अचानक धन व्यय में वृद्धि होगी। पुराना रोग दूर होगा। कर्ज से मुक्ति की संभावना के साथ शत्रुओं का भी पराभव होगा। भाग्य स्थान पर दृष्टि भाग्य में वृद्धि होगी, पिता के सहयोग में वृद्धि होगी। आपको अपनी मेहनत का पूरा फल मिलेगा। वर्ष 2022 प्रतियोगिता में सफलता की दृष्टि से सर्वश्रेष्ठ वर्ष सिद्ध होगा।
उपाय:- मूल जन्म कुंडली के अनुसार शनि के उपाय।

मीन लग्न:- मीन लग्न के लिए शनि देव शुभ ग्रह के रूप में कार्य नहीं करते हैं। अपनी स्थिति के अनुसार शुभ या अशुभ फल देता है। वर्ष 2022 में मीन राशि के जातकों के लिए शनि देव केवल लाभ भाव में ही गोचर करते रहेंगे। ऐसे में मेहनत के फल में पूर्णता प्रदान करने से आर्थिक लाभ मिलेगा। व्यापार विस्तार के लिए समय अनुकूल रहेगा, साथ ही व्यावसायिक गतिविधियों में विस्तार के लिए अचानक खर्च का माहौल भी बनेगा। पंचम भाव पर दृष्टि होने से संतान को लेकर तनाव की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। इस वर्ष शिक्षा में रुकावट या तनाव संभव है। लग्न भाव की दृष्टि से मानसिक सोच और चिंता में वृद्धि, स्वास्थ्य समस्याएं भी बनेंगी। अष्टम भाव पर दृष्टि होने से पेट और पैरों से संबंधित समस्याएं, पेशाब से संबंधित समस्याएं मानसिक चिंता को जन्म देंगी।
उपाय:- शनिवार के दिन काले तिल और गुणों को मिलाकर गोधूल के समय पीपल के पेड़ के पास चीटियों को खिलाएं।