इतनी आपसी लड़ाई के बीच चिराग पासवान से मिलने पहुंचे नीतीश कुमार

0
314

अभी बिहार में चुनाव सर पर है और हर कोई अपनी पार्टी के लिए स्वार्थी है और ये तो बड़ी ही जायज सी बात भी है कि भला अपना फायदा कौन नही चाहेगा? हर कोई अपना अपना फायदा चाहता है मगर अभी की बात अगर हम लोग करे तो इन दिनों नीतीश और चिराग के बीच में तो छत्तीस का आंकडा बना हुआ है और बिलकुल भी एक दुसरे को कुछ दिन पहले तो दोनों एक दुसरे को देखना तक नही चाह रहे थे. कही न कही सीटो का बंटवारा और फिर गठबंधन का टूट जाना इसके पीछे का कारण था.

मगर इन सब कुछ मनमुटावो के बीच में नीतीश कुमार न सिर्फ चिराग पासवान से मिलने के लिए पहुंचे बल्कि उनको सांत्वना भी दी. आपको मालूम तो होगा ही कि अभी हाल ही में चिराग पासवान के पिता और बिहार के बड़े नेता राम विलास पासवान का निधन हो गया था.

नीतीश कुमार चिराग पासवान के पास में पहुंचे उन्होने राम विलास पासवान की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किये. इसके बाद में वो चिराग और उनके घर के बाकी  लोगो से मिले और उन्हें ससांत्वना दी और फिर कुछ देर रूकने के बाद में वापिस से लौट गये. ये कही न कही दर्शाता है कि राजनीति में चाहे कितनी ही आपसी चीजे हो जिससे मन न मिल रहे हो लेकिन जब इतने बड़े दुःख आते है तो नेता लोग भी एक दुसरे के यहाँ पर जाते है और सांत्वना देते है.

वही बात करे चुनावों की तो चिराग का यही कहना है कि वो बस अपने पिता का अधूरा छोड़ा हुआ काम पूरा कर रहे है और अकेले ही चुनाव लड़ेंगे. अब आगे चलकर के क्या होता है और क्या वो कोई बड़ी जीत को हासिल कर पाते है या फिर यूँ ही रह जाते है ये तो अब देखने वाली ही बात होगी.