सुपर-डायरेक्टर राजमोली ने 21 साल में सिर्फ 11 फिल्में क्यों बनाई हैं?

0
5

आरआरआर दक्षिणी फिल्म, जिसे हाल ही में सिनेमाघरों में देखा गया था, जनता द्वारा पसंद की जाती है। फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर काफी कुछ हासिल किया था। ऐसे में इस फिल्म के बाद फिर से चर्चा में आने लगे एसएस राजामौली के डायरेक्टर। तो अब एसएस राजामौली को कौन नहीं जानता?

आज पूरा देश इस नाम से परिचित है। ब्रागामोली और उनकी सफल फिल्मों से हर कोई परिचित है। बॉलीवुड में बाहुबली जैसे गाने परफॉर्म करने वाले एसएस राजमोली को आज बच्चा काफी पसंद करता है। राजमोली के बारे में कुछ और ही कहना है, जिन्हें आप शायद ही जानते हों, दरअसल, राजमोली बॉलीवुड में अपनी तरह की इकलौती डायरेक्टर हैं।

उन्होंने अब तक सिर्फ 11 फिल्में ही बनाई हैं और सबसे हैरानी की बात यह है कि उनकी सभी फिल्में सफल हो चुकी हैं। राजमोली की फिल्मों की न केवल हमारे देश में बल्कि पूरी दुनिया में प्रशंसा की गई है। टाइलगो इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने वाले राजमोली ने बॉलीवुड में भी पैर जमाने शुरू कर दिए। आपकी जानकारी के लिए राजामौली पिछले 21 सालों से इंडस्ट्री से जुड़े हुए हैं। हालांकि, उन्होंने केवल 11 फिल्में बनाई हैं।

जहां उनकी सभी 11 फिल्में हिट साबित हुई हैं, वहीं राजमोली एक ऐसे फिल्ममेकर हैं जिनकी फिल्में अभी तक ठिठक नहीं पाई हैं। अपनी 11 फिल्मों के लिए, राजमोली ने अब तक कई पुरस्कार भी जीते हैं। राजमोली से अलग अंदाज में फिल्में दिखाना, लोगों को खूब पसंद किया जाता है। बता दें कि राजमोली के पास अपने पिता से अलग तरीके से फिल्मों को पेश करने की यह अनोखी कला है।

उन्होंने अपने करियर की शुरुआत 2001 में की थी।

बता दें कि राजमोली के पिता केवी विजयेंद्र प्रसाद खुद भी बहुत बड़े डायरेक्टर और राइटर हैं। विजयेंद्र प्रसाद वो शख्स हैं जिन्होंने अपने करियर में मगधीरा, बाहुबली सीरीज, भाईजान बजरंगी, मणिकर्णिका और थलाइवी जैसी कई सफल फिल्में लिखी हैं। राजमोली ने अपने करियर की शुरुआत 2001 में स्टूडेंट फिल्म नंबर 1 से की थी।

बॉक्स ऑफिस पर राजामौली की यह फिल्म भी हिट साबित हुई। राजमोली इसके बाद सिमद्री, साईं, चतरपति, विक्रमारुकुडो, यमाडोंगा, मगडेरा, मरियादा रमण, इगा का दौरा किया, जिसका नाम हिंदी में फ्लाई है। मैंने एक से बढ़कर एक सुपरहीरो फिल्में बनाई हैं।

बाहुबली का गठन दो साल के भीतर ही हो गया।

फिर राजमोली ने बाहुबली सीरीज बनाई। जिसे राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिला। राजमोली को इस फिल्म को बनाने में काफी समय लगा। बताया जाता है कि बाहुबली की शुरुआती फिल्म के पहले पार्ट के बाद दूसरे पार्ट बाहुबली फिनाले को आने में पूरे 2 साल लग गए।