दो शादी टूटने के बाद तोड़ी एक्ट्रेस ने चुप्पी, कहा – पहले पति ने किया शारीरिक शोषण और दूसरे ने…

0
2

यूं तो हिन्दू धर्म में शादी को जन्म जन्मांतर का बंधन माना गया है। यानी इस दुनिया में रहते हुए तो आपको यह बंधन निभाना ही है, मगर इस दुनिया से जाने के बाद भी आप इस बंधन से बाहर नहीं आ सकते। कहते हैं हर किसी का एक पार्टनर होता है जो ऊपर ही फिक्स हो जाता है। मगर कई बार धरती पर आने के बाद वो पार्टनर कहीं घूम जाता है। ऐसे में व्यक्ति एक ऐसे इंसान को अपना जीवन साथी चुन लेता है जिससे उसकी बिल्कुल नहीं बनती। लिहाजा दोनों को यह शादी का अटूट बंधन तोड़ना पड़ जाता है। ऐसा ही कुछ ‘ज्योति’ और ‘वीरा’ जैसे फेमस धारवाहिक में काम कर चुकी स्नेहा वाघ के साथ भी हुआ। स्नेहा ने दो बार गलत लोगों का अपना हम सफर चुना एक ने जहाँ उनके साथ बदसलूकी की तो एक ने शारीरीक शोषण।  

बता दें स्नेहा ने महज़ 19 साल की छोटी सी उम्र में आविष्कार दारवेकर नाम के व्यक्ति से पहली शादी की थी। मगर यह शादी ज़्यादा समय चल नहीं पाई और 2018 में वे अपने पति से अलग हो गयी थी। अपनी पहली शादी में स्नेहा को शारीरिक शोषण का सामना करना पड़ा। अपनी शादी टूटने के बाद उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा था “मैं ये नहीं कहूंगी कि वो एक गलत लड़का था, लेकिन हाँ, वह मेरे लिए सही नहीं था। दो असफल शादियों के बाद मैंने महसूस किया कि पुरुषों को हेडस्ट्रॉन्ग महिलाएं पसंद नहीं हैं। हमारे समाज में धारणा है कि केवल पुरुष ही परिवार की देखभाल कर सकते हैं, लेकिन वह है सच नहीं है। मुझे मालूम है कि मैं अपने परिवार को चलाने में सक्षम हूं।”

 इसके बाद स्नेहा ने इंटीरियर डिजाइनर अनुराग  सोलंकी से शादी की, मगर दुर्भाग्य से यह शादी महज़ 8 महीने ही चल पाई। हालांकि काफी समय से वे एक दूसरे से अलग रहे रहे हैं, मगर अब तक वे कानूनी रूप से अलग नहीं हुए हैं। नगर जल्द ही वे यह फार्मेलिटी भी पूरी करने वाले हैं। उन्होंने बताया कि “पहली शादी के वक्त मेरी उम्र काफी कम थी। 7 साल बाद मैंने दोबारा शादी की लेकिन ये मेरा दुर्भाग्य ही था कि मैंने फिर से एक गलत आदमी को चुना।” लेकिन अब दो शादियां टूटने के बाद उनका कहना है कि उनकी जिन्दगी में “कोई प्यार नहीं, कोई शादी नहीं.. मैं अब किसी भी चीज के लिए तैयार नहीं हूं।”

स्नेहा के करियर की बात करें तो उन्होंने महज़ 17 साल की उम्र में अभिनय जगत में कदम रख दिया था। वे पहले मराठी थियेटर में काम करती थी। इसके बाद वो ‘अधूरी एक कहानी’, ज्योति और ‘वीरा’ जैसे सीरियल में दिखाई दी।