नीतीश कैबिनेट की बैठक में 13 अहम एजेंडा सील, 4 चिकित्सा अधिकारी बर्खास्त

0
0

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार को कैबिनेट की बैठक हुई. सचिवालय के कैबिनेट कक्ष में हुई बैठक में कैबिनेट ने 13 एजेंडा को मंजूरी दी है. कैबिनेट बैठक के बाद निगरानी विभाग के प्रमुख सचिव सिद्धार्थ ने प्रेस वार्ता में लिए गए निर्णयों की जानकारी दी. कैबिनेट द्वारा सील किए गए महत्वपूर्ण एजेंडा इस प्रकार हैं…

चालू वित्तीय वर्ष 2022-23 में राज्य योजना मद में कृषि यंत्रीकरण योजना के क्रियान्वयन हेतु कृषि रोड मैप के अंतर्गत कुल 9,405.54 लाख रुपये की राशि स्वीकृत की गयी है. वित्तीय वर्ष 2022-23 में 90 कृषि मशीनरी पर किसानों की सब्सिडी की स्वीकृति।

– सीएम डिसेबिलिटी एम्पावरमेंट के तहत छात्र को बैटरी से चलने वाली ट्राइसाइकिल मिलेगी। 42 हजार करोड़ मंजूर। कुल 10 हजार लाभार्थियों को ट्राइसाइकिल दी जाएगी।

– रवि और गेहूं की खरीद के लिए 10,000 करोड़ रुपये। ऋण राशि को हरी झंडी दे दी गई। सरकार नाबार्ड से कर्ज लेगी। कृषि रोडमैप के लिए 94.05 करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं। वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए स्वीकृत राशि।

हरिगोपाल सिंह, तत्कालीन कार्यकारी अभियंता, भवन विभाग, सीतामढ़ी की अनिवार्य सेवानिवृत्ति। डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई, सेवा से बर्खास्तगी कोचाधामन पीएचसी के चिकित्सा अधिकारी डॉ. डॉ. आशुतोष कुमार, किशनगंज सदर अस्पताल के चिकित्सा अधिकारी पूर्णिया सदर अस्पताल के चिकित्सा अधिकारी डॉ. जुनैद अख्तर डॉ. उमेश कुमार एवं अमूर रेफरल अस्पताल के चिकित्सा अधिकारी। अमीनेश कुमार को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है।

गया में ब्रह्मवानी पहाड़ी पर रोपवे बनाने की योजना को कैबिनेट की मंजूरी कुल संशोधित अनुमान रु. 4,24,00,000। रु. 8,67,60,000 रुपये की संशोधित प्रशासनिक स्वीकृति एवं बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम की कार्यकारी एजेंसी मनोनीत करने की स्वीकृति।

वैश्विक महामारी कोरोना के संदर्भ में स्नातकोत्तर छात्रों और एमबीबीएस इंटर्न को एक माह की छात्रवृत्ति और वजीफा के बराबर प्रोत्साहन राशि प्राप्त करने की मंजूरी दी गई है।