बिहार में सियासी घमासान: 30-31 जुलाई को बीजेपी की बड़ी रैली, उसके बाद 30 जुलाई से 7 अगस्त तक जदयू

0
7

हाइलाइट

बीजेपी के तमाम बड़े नेता 30 और 31 जुलाई को होने वाली बैठक के लिए पटना पहुंच रहे हैं.
जदयू ने 30 जुलाई से 7 अगस्त के बीच अपने सभी प्रकोष्ठों की बैठक बुलाई.

पटना। बिहार की राजधानी पटना में इस समय सियासी घमासान चल रहा है. एक तरफ बीजेपी 30 और 31 जुलाई को सभी गठबंधनों की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की अहम बैठक कर रही है. इस बैठक में बीजेपी के तमाम बड़े नेता मौजूद रहेंगे. वहीं जदयू ने 30 जुलाई से 7 अगस्त तक सभी प्रकोष्ठों की अहम बैठक बुलाई है. ये बैठकें जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह के नेतृत्व में होंगी. जदयू प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने यह जानकारी दी।

जदयू प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा के मुताबिक संगठन को मजबूत और तेज करने के लिए शनिवार से जदयू प्रकोष्ठ की विभिन्न बैठकें बुलाई गई हैं. इन बैठकों में राष्ट्रीय अध्यक्ष संसद के सदस्य राजीव रंजन सिंह उर्फ ​​ललन सिंह भी मौजूद रहेंगे।

30 जुलाई से बैठकों का दौर

दरअसल जनता दल यूनाइटेड संगठन को मजबूत और तेज करने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है. इस क्षेत्र में पार्टी प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा की अध्यक्षता में शनिवार 30 जुलाई से प्रदेश मुख्यालय स्थित कर्पूरी सभागार में जदयू के सभी प्रकोष्ठों की विभिन्न बैठकें बुलाई गई हैं. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सांसद ललन सिंह इन महत्वपूर्ण बैठकों में शामिल होंगे और आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनावों में पार्टी को मजबूत करने के लिए सुझाव भी देंगे.

जदयू बैठक का कार्यक्रम

इसी क्रम में अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ की पहली बैठक शनिवार 30 जुलाई को रात 11 बजे कर्पुरी सभागार में होगी. मेडिकल सेल की बैठक शनिवार 30 जुलाई को दोपहर 2.30 बजे से कर्पुरी सभागार में होगी. रविवार 31 जुलाई को प्रातः 11 बजे से अतिमगस चैम्बर की बैठक तथा रविवार 31 जुलाई को अपराह्न 2:30 बजे तकनीकी कक्ष की बैठक होगी। छात्र प्रकोष्ठ की बैठक एक अगस्त को सुबह 11 बजे से और किसान प्रकोष्ठ की बैठक 2 अगस्त को सुबह 11 बजे होगी. सभी बैठकों में प्रकोष्ठ के अध्यक्ष और सभी जिलों के अध्यक्ष सहित क्षेत्रीय पदाधिकारी भाग लेंगे. जबकि शिक्षा चैंबर की बैठक 7 अगस्त को रात 11 बजे से और बिजनेस चैंबर की बैठक 7 अगस्त को दोपहर 2.30 बजे से होगी.