मिथुन चक्रवर्ती ने बिखेरा दर्द, कहा- मेरा कोई बच्चा मुझसे बात नहीं करता, पापा के लिए ये है बड़ी वजह

0
5

मिथुन चक्रवर्ती को आज एक भी व्यक्ति नहीं जानता है। इसकी वजह कोई और नहीं बल्कि बॉलीवुड के बहुत बड़े और मशहूर अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती हैं। मिथुन चक्रवर्ती ने बॉलीवुड को कई सुपरहिट फिल्में दी हैं, जिससे मिथुन आज बॉलीवुड में एक बड़ा नाम हैं और हर कोई उन्हें बहुत चाहता है। मिथुन चक्रवर्ती ने अपने समय में बॉलीवुड पर राज किया, बॉलीवुड में उनका एकतरफा नाम हुआ करता था। ऐसा इसलिए क्योंकि मिथुन चक्रवर्ती की सभी फिल्मों को लोगों ने खूब पसंद किया और आज भी हैं। आज भी लोग मिथुन की फिल्में बड़े चाव से देखते हैं। फिलहाल मिथुन चक्रवर्ती सोशल मीडिया पर छाए हुए हैं और हर जगह चर्चा का विषय बन गए हैं। क्योंकि हाल ही में यह बात सामने आई है कि मिथुन चक्रवर्ती को उनके बच्चे पिता नहीं कहते हैं। यह बात किसी और ने नहीं बल्कि मिथुन ने अपने बयान में कही है। आगे इस लेख में हम आपको इस खबर के बारे में पूरी जानकारी देंगे कि मिथुन राशि के बच्चे उन्हें पिता क्यों नहीं कहते हैं।

मिथुन चक्रवर्ती के 4 बच्चे हैं, कोई उन्हें पिता नहीं कहता और उन्हें बताता कि मिथुन चक्रवर्ती खुद बॉलीवुड के बहुत बड़े अभिनेता हैं। इसका कारण यह है कि मिथुन की सभी फिल्मों को लोगों ने पसंद किया। मिथुन को बॉलीवुड में मिथुन दा के नाम से भी जाना जाता है। मिथुन चक्रवर्ती की निजी जिंदगी की बात करें तो उन्होंने 1917 में शादी की थी। आज मिथुन चक्रवर्ती के चार बच्चे हैं जिनमें से 3 लड़के और एक लड़की है। हाल ही में मिथुन ने अपने एक बयान में कहा है कि उनका कोई भी बच्चा उन्हें पिता नहीं कहता। जी हां, यह बात बिल्कुल सच है और इसका खुलासा खुद मिथुन दा ने किया है। मिथुन ने इसकी वजह भी बताई है। आगे इस लेख में हम आपको बताएंगे कि मिथुन चक्रवर्ती के बच्चे उन्हें पिता क्यों नहीं कहते हैं।

मिथुन के बच्चे उन्हें पिता नहीं कहते हैं, वे उन्हें नाम से बुलाते हैं, यही एक बड़ा कारण है कि मिथुन चक्रवर्ती या मिथुन दा वर्तमान में सोशल मीडिया पर बहुत लोकप्रिय हैं और हर जगह सुर्खियां बटोर रहे हैं। क्योंकि हाल ही में मिथुन ने अपने एक बयान में कहा है कि उनके चार बच्चे उन्हें पिता नहीं बल्कि उनके नाम से बुलाते हैं। इसका कारण बताते हुए मिथुन ने कहा कि जब उन्हें पहली बार नींद आई तो उन्होंने काफी देर तक कुछ नहीं कहा। जब उन्होंने पहला शब्द बोला तो वह मिथुन थे और जब मिथुन ने डॉक्टर से इस बारे में बात की तो डॉक्टर ने कहा कि बच्चे को इसी नाम से बुलाते रहो। बड़े बेटे को देखकर बाकी तीनों बेटे भी अपने पिता को उसके नाम से बुलाने लगे और यही सिलसिला आज तक जारी है।