सौतेली माँ श्रीदेवी के जाने के सालों बाद छलका अर्जुन कपूर का दर्द, कहा – उसकी वजह से मेरी ज़िंदगी बन गई नर्क

0
5

बॉलीवुड अभीनेता अर्जुन कपूर आज एक दम फीट हैं, उनकी बॉडी पर कई लड़कियां फिदा हैं। मगर एक समय ऐसा भी था जब अर्जुन कपूर काफी मोटे हुआ करते थे। उन्होंने सेलिब्रिटी कुकिंग शो स्टार vs फ़ूड में अपने उसी दौर के बारे में कई सारी बातें कहीं। उन्होंने बताया कि माता-पिता के तलाक के बाद वे बहुत बुरी तरीके से टूट गए थे। लिहाजा उस वक्त वे खाने में अपना खोया सुकून तलाशने लगे।

गौरतलब है कि बोनी कपूर के जीवन में श्रीदेवी के आने के बाद उनके और मौना शौरी के रिश्ते में खटास आनी शुरू हो गयी। और फिर 1996 में दोनों ने तलाक ले लिया। इस तलाक का असर मौना और बोनी के अलावा उनके बच्चों पर भी पड़ा।

अर्जुन कपूर कहते हैं कि “उस वक्त मैं बुरी तरह से टूटने लगा था लिहाजा मैंने उल्टा सीधा खाना शुरू कर दिया। मेरा 16 साल की उम्र में 150 किलो वजन हो गया था।” अर्जुन कपूर आगे कहते हैं कि “जब मम्मी पापा अलग हुए तो मुझे खाने में अपना सुकून मिलने लगा। खाने से मेरा उस वक्त भावनात्मक स्तर पर लगाव बढ़ गया था। मैं उस वक्त बहुत खाता था, मुझे उस दौरान खाने में आनंद आता था। और यही करते हुए एक समय ऐसा भी आ गया जब मुझे कोई रोकने वाला नहीं था, मैं खाने को छोड़ नही सकता था। एक माँ ही थी जो बहुत प्यार करती थी, मगर उनको उस वक्त यह लगता था कि यह अभी बच्चा है और इसकी यह उम्र खाने की ही है।”

 अर्जुन कपूर के अनुसार ज़्यादा खाने की वजह से उनके शरीर को काफी नुकसान हो रहा था। अर्जुन बताते हैं कि एक समय ऐसा भी था जब मुझे अस्थमा हो गया था। मेरा वजन 16 साल की उम्र में 150 किलो तक हो गया था यह और बढ़ता जा रहा था। मुझे चावल और मिठाई सबसे ज़्यादा पसंद थी, मगर मुझे अपने शरीर पर काम करना था। लिहाजा मैंने मेहनत करना शुरु की, आज दो साल हो गए हैं मैंने मिठाई और चावल नहीं खाये। 

2012 में आई फ़िल्म इशकज़ादे से बॉलीवुड में इंट्री करने वाले अर्जुन कपूर के साथ इस सेलिब्रिटी कुकिंग शो में रैपिड राउंड भी हुआ। इस दौरान उनसे पूछा गया कि अपने बॉलीवुड के दोस्तों के लिए वे कौनसी डिश बनाना चाहेंगे। अर्जुन ने सभी स्टार दोस्तों के लिए अच्छी-अच्छी डिश की बात की। वहीं जब नाम उनकी लेडी लव मालाइका का आया तो उन्होंने बताया कि एक्ट्रेस को मिठाई बहुत पसंद इसलिए वे उनके लिए हैल्दी सी मिठाई बनाएंगे।