छपरा : नकली शराब से मरने वालों की संख्या 9 हुई, 11 की आंखों की रोशनी चली गई

0
5

हाइलाइट

फुलवरिया के चंदन महतो और कमल महतो की जहरीली शराब पीने से मौत हो गई।
पीएमसीएच में एक और व्यक्ति की मौत एक दर्जन लोग कम देख सके।

छपरा सारण जिले में शुक्रवार को जहरीली शराब से दो और लोगों की मौत हो गई. तो कुल मौत का आंकड़ा 9 पहुंच गया है। बताया जाता है कि शुक्रवार को जिन दो लोगों की मौत हुई उन्हें पीएमसीएच में भर्ती कराया गया है. इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गई। जिले के मेकर और भेलडी की घटना में गुरुवार देर रात तक मरने वालों की संख्या नौ हो गई। वहीं, 11 लोगों की आंखों की रोशनी चली गई है।

जहरीली शराब से प्रभावित करीब 30 लोगों को पीएमसीएच में भर्ती कराया गया, जिनमें से 6 लोगों की मौत हो चुकी है. यहां इलाज के दौरान 6 लोगों की मौत हो चुकी है. नकली शराब की चपेट में आए राजनाथ महतो, धनी लाल महतो और सकलदीप महतो की पीएमसीएच में इलाज के दौरान मौत हो गई. तीनों नोनिया टोली के रहने वाले थे।

बताया जाता है कि यह मामला मेकर थाने की सीमा के भीतर का है. पारस महतो के बेटे चंदन महतो (35) और काशी महतो के बेटे कमल महतो (70, रेस. भाथा फुलवरिया, मेकर) की गांव में मौत हो गई, जबकि एक अन्य व्यक्ति की पीएमसीएच में इलाज के दौरान मौत हो गई. देर रात मिली जानकारी के मुताबिक पीएमसीएच में भर्ती 4 और लोगों की मौत हो गई है.

जहरीली शराब मामले के बाद मेकर की नोन्या जनजाति भाथा में दहशत है। पीएमसीएच में फिलहाल 30 लोगों को भर्ती कराया गया है और 6 लोगों की मौत हुई है. सांस लेने वाले यंत्रों से पूरे गांव की जांच की जा रही है। छपरा जहरीली शराब मामले को लेकर पीएमसीएच अलर्ट पर है. अस्पताल प्रशासन ने डॉक्टरों को अलर्ट किया। यह जानकारी पीएमसीएच के अधीक्षक डॉ. आईएस ठाकुर ने दी।

इस जहरीली शराब के कारण सकलदीप महतो, भरोसा महतो, उपेंद्र महतो, धनी महतो, चंदेश्वर महतो, देवा नंद महतो, प्रेम महतो, सुपन महतो, अखिलेश महतो, लखन महतो, भोली महतो आदि की आंखों की रोशनी चली गई है। उक्त अस्पताल में भर्ती इन मरीजों का हाल जानने डीएम व एसपी खुद अस्पताल पहुंचे.

एम राजेश मीणा ने बताया कि इस घटना की सूचना मिलने पर प्रशासन ने स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव भेज दी है और बीमार लोगों को सरकारी खर्चे पर अस्पताल लाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग बीमार लोगों के इलाज को लेकर सतर्क है. इलाके में शराब तस्करों को पकड़ने के लिए भी छापेमारी की जा रही है.