हाजीपुर-मुजफ्फरपुर फोरलेन की चौथी डेडलाइन व हाजीपुर बाईपास का निर्माण भी फेल, जानिए कब पूरा होगा निर्माण

0
7

हाजीपुर-मुजफ्फरपुर फोर लेन और हाजीपुर बाईपास के निर्माण की चौथी समयसीमा भी फेल हो गई है. हालांकि, इसका काम अब मार्च 2023 में पूरा कर लिया जाएगा। दरअसल, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने इसके लिए नई डेडलाइन दी है। बताया जा रहा है कि यह प्रोजेक्ट इस साल अब तक दो बार फेल हो चुका है। परियोजना को पूरा करने की पहली समय सीमा मार्च 2022 थी। उसके बाद फिर से समय सीमा 30 जून, 2022 तक दी गई। लेकिन फिर भी काम पूरा नहीं हो सका।

पहले उम्मीद की जा रही थी कि इसका निर्माण दिसंबर 2021 में पूरा हो जाएगा लेकिन ऐसा नहीं हो सका।” बता दें कि 63.17 किलोमीटर लंबे हाजीपुर-मुजफ्फरपुर चतुष्कोण की अनुमानित लागत करीब 671 करोड़ रुपये है। इस प्रोजेक्ट का काम 2010 में शुरू किया गया था। हालांकि, भूमि अधिग्रहण बाधाओं के कारण 2013 से 2020 तक 7 साल के लिए काम रोक दिया गया था। इसके बाद एनएचएआई ने परियोजना को डी-स्कोप श्रेणी में रखकर बंद करने का फैसला किया। हालांकि, सड़क निर्माण विभाग की पहल पर 27 जून 2020 को इस परियोजना का काम फिर से शुरू किया गया था।

फिलहाल जमीन अधिग्रहण का मामला लगभग सुलझ गया है। 63.17 किमी लंबी सड़क में से लगभग 54 किमी लंबी सड़क का निर्माण किया जा चुका है। अब इस परियोजना का केवल 7 किमी ही अधूरा है क्योंकि यह पूरा नहीं हुआ है। यहां 17 किलोमीटर लंबा हाजीपुर बाईपास बनाया जाएगा। इसके निर्माण पर अलग से 180 करोड़ खर्च किए जाएंगे। कुल 17 किमी में से 6 किमी बाईपास का निर्माण 8 साल पहले किया गया है। हालांकि, एनएच-102 पर एक फ्लाईओवर, एक रेलवे ओवरब्रिज और 2 बड़े पुलों का निर्माण अभी भी अधूरा है।