हाल ही में लोकसभा चुनाव हुए तो एनडीए को लगेगा झटका! अगर नीतीश का साथ छोड़ दिया तो इतनी सीटें गवां सकती हैं

0
18

बिहार की राजनीति में हालिया उथल-पुथल और जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) का भाजपा के राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) गठबंधन से अलग होना भी लोकसभा चुनाव को प्रभावित कर सकता है।

हाल ही में लोकसभा चुनाव हुए तो एनडीए को लगेगा झटका!  अगर नीतीश का साथ छोड़ दिया तो इतनी सीटें गवां सकती हैंनीतीश कुमार ने एनडीए से तोड़ा गठबंधन (फाइल फोटो)

छवि क्रेडिट स्रोत: फ़ाइल फोटो

बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) गठबंधन का नतीजा और जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू), कांग्रेस, राजद को मिलाकर एक महागठबंधन सरकार का गठन भी लोकसभा में देखा जा सकता है। वहीं, अगर इस दिन देश में लोकसभा चुनाव होते हैं तो हाल ही में हुए एक सर्वे में बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए की सीटों में कमी आने की भविष्यवाणी की गई है. बिहार में सरकार बदलने के बाद एनडीए को करीब 21 सीटों का नुकसान हो सकता है. इंडिया टुडे ग्रुप और सीवोटर द्वारा किए गए एक सर्वेक्षण में यह भविष्यवाणी की गई है।

सर्वे के मुताबिक, अगर लोकसभा चुनाव 1 अगस्त तक हो जाते तो 543 सीटों में से एनडीए को 307 सीटें, यूपीए को 125 और अन्य पार्टियों को 111 सीटों पर जीत मिलती. लेकिन बिहार में हालिया राजनीतिक उथल-पुथल (10 अगस्त) के बाद अगर लोकसभा चुनाव होते हैं तो इसका सीधा असर एनडीए की कुल सीटों पर पड़ेगा. अगर बिहार में सरकार बदलने के बाद चुनाव होते तो एनडीए को 286 सीटें मिलतीं. वहीं, बिहार में सरकार बदलने के बाद लोकसभा चुनाव में यूपीए को फायदा होता. यूपीए को 146 सीटें मिलने की उम्मीद है जबकि अन्य पार्टियों को 111 सीटें मिलने की उम्मीद है।

चुनाव में राजग की हार पर बनी रहेगी गद्दी

2019 के लोकसभा चुनावों में, भाजपा 303 सीटों के अपने पिछले बहुमत के साथ सत्ता में लौटी। वहीं, भाजपा नीत गठबंधन ने 333 सीटों पर जीत हासिल की। लोकसभा चुनाव में स्पष्ट बहुमत के लिए न्यूनतम 273 या अधिक सीटों की आवश्यकता होती है। सर्वे के अनुमान के मुताबिक मौजूदा हालात में बीजेपी को जरूर नुकसान हो रहा है, लेकिन ऐसा लग रहा है कि सत्ता की गद्दी उन्हीं को जा रही है.

23.7 फीसदी ने कहा कि सरकार का काम बहुत खराब है.

सर्वे के मुताबिक आधे से ज्यादा लोगों ने एनडीए सरकार के कामकाज को अच्छा और बहुत अच्छा बताया. 28.1 प्रतिशत ने कहा कि एनडीए सरकार का प्रदर्शन बहुत अच्छा है, 28 प्रतिशत ने कहा कि यह अच्छा है, जबकि 23.7 प्रतिशत ने कहा कि सरकार का प्रदर्शन बहुत खराब है। सर्वे के मुताबिक 8.5 फीसदी लोगों की राय थी कि एनडीए सरकार खराब प्रदर्शन कर रही है.