भागलपुर में विक्रमशिला सेतु के समानांतर एक और पुल का निर्माण 994.31 करोड़ रुपये की लागत से किया जाएगा।

0
11

विक्रमशिला सेतु के समानांतर पुल बनाने पर 3.75 प्रतिशत से अधिक खर्च आएगा। ठेका एजेंसी को टेंडर राशि से 3.75 प्रतिशत अधिक की दर से पुल निर्माण का कार्य सौंपा गया है। इस पुल की निविदा राशि 958.38 करोड़ रुपये से अधिक और 35.93 करोड़ रुपये से अधिक 994.31 करोड़ रुपये होगी। 2020 की टेंडर राशि 838 करोड़ से बढ़कर 156.31 करोड़ से बढ़कर 994.31 करोड़ हो गई है। इस बीच, एसपी सिंगला के पक्ष में वित्तीय बोली 1 जुलाई को खुली है और इसका मूल्यांकन किया जा रहा है। अब जल्द ही चयनित ठेका एजेंसी के साथ एक स्वीकृति पत्र पर हस्ताक्षर किए जाएंगे।

इस प्रक्रिया के बाद सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय उन्हें नई दिल्ली से शासनादेश जारी करेगा। हालांकि कहा जा रहा है कि बारिश खत्म होने के बाद पुल का काम शुरू हो जाएगा। इस समानांतर पुल का निर्माण ईपीसी पद्धति से किया जाएगा। साथ ही, इंजीनियरिंग, डिजाइनिंग और निर्माण कार्यों को करने के लिए ठेका एजेंसी जिम्मेदार होगी।

ठेका एजेंसी को पुल का निर्माण चार साल के भीतर पूरा करना है। कंसल्टेंसी पिलर इरेक्शन से लेकर ब्रिज के निर्माण से जुड़े सभी पहलुओं पर ध्यान देगी। और निर्माण से संतुष्ट होने के बाद कंसल्टेंसी द्वारा ही बिल तैयार किया जाएगा। पुल निर्माण एजेंसी और सरकार के बीच एक परामर्श पुल के रूप में कार्य करेगा।

गंगा सेतु का निर्माण शासन के नियम एवं मानकों के अनुरूप किया जायेगा जबकि कार्य परामर्शदात्री की देखरेख में किया जायेगा। मंत्रालय स्तर से कंसल्टेंसी एजेंसी को फिर से शुरू किया जाएगा। हालांकि अभी टेंडर प्रक्रिया का पालन किया जा रहा है। तकनीकी बोली खोली गई है। इसका टेंडर स्टूप कंसल्टेंट्स प्राइवेट लिमिटेड, कंसल्टेंट चैतन्य प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड, हेक्सा कंपनी, दोहवा इंजीनियरिंग कंपनी लिमिटेड, एसए इंफ्रास्ट्रक्चर कंसल्टेंट्स प्राइवेट लिमिटेड और स्ट्रीरा कंपनी ने भरा था। तकनीकी बोली में सफल होने वाली परामर्श एजेंसी की वित्तीय बोली खोली जाएगी। कृपया सूचित करें कि जिनके नाम पर वित्तीय बोलियां खोली जाएंगी, उन्हें कार्य प्रदान किया जाएगा।