शेयर मार्केट किंग राकेश झुनझुनवाला का निधन, 62 साल की उम्र में ली अंतिम सांस!

0
10

स्टॉक मार्केट बुल राकेश झुनझुनवाला का 62 साल की उम्र में निधन हो गया। उन्हें मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल लाया गया। झुनझुनवाला को 2-3 हफ्ते पहले अस्पताल से छुट्टी मिली थी। ब्रीच कैंडी अस्पताल ने दिग्गज व्यवसायी झुनझुनवाला के निधन की पुष्टि की है। अस्पताल ने आज सुबह 6.45 बजे राकेश झुनझुनवाला के निधन की पुष्टि की।

राकेश झुनझुनवाला को भारत का वारेन बफे भी कहा जाता है। शेयर बाजार से पैसा कमाने के बाद बिग बुल ने एयरलाइन क्षेत्र में भी प्रवेश किया। उन्होंने एक नई एयरलाइन, अकासा एयर में भारी निवेश किया था और कंपनी ने 7 अगस्त को परिचालन शुरू किया था। शेयर बाजार में निवेश करने वाले झुनझुनवाला के पास आज हजारों करोड़ की संपत्ति है. विडंबना यह है कि इतनी दौलत वाले शख्स का सफर महज 5 हजार रुपये से शुरू हुआ।

अकासा की पहली व्यावसायिक उड़ान ने मुंबई से अहमदाबाद के लिए उड़ान भरी। अकासा एयर की पहली उड़ान के उद्घाटन समारोह में उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया नजर आए। उन्होंने आकाश की पहली व्यावसायिक उड़ान को झंडी दिखाकर रवाना किया। उनके साथ केंद्रीय राज्य मंत्री वीके सिंह भी मौजूद थे। अकासा एयर ने 13 अगस्त से कई रूटों पर अपनी सेवाएं शुरू कर दी हैं।

राकेश झुनझुनवाला और उनकी पत्नी रेखा के पास अकासा एयर शेयरों में बहुलांश हिस्सेदारी है। इस एयरलाइन की कुल हिस्सेदारी 45.97 फीसदी है। विनय दुबे के अलावा, संजय दुबे, नीरज दुबे, माधव भटककुली, PAR कैपिटल वेंचर्स, कार्तिक वर्मा भी अकासा एयर के प्रमोटर हैं। इसमें राकेश झुनझुनवाला के बाद विनय दुबे की 16.13 फीसदी हिस्सेदारी है. अकासा एयर ने 13 अगस्त से बेंगलुरु-कोच्चि सेवा शुरू की है। वहीं, बेंगलुरु-मुंबई के लिए यह 19 अगस्त से और चेन्नई-मुंबई के लिए 15 सितंबर से अपनी सेवाएं शुरू करेगी।

भारत के वॉरेन बफे कहे जाने वाले राकेश झुनझुनवाला के पास शेयर बाजार से आय का मुख्य स्रोत है। झुनझुनवाला की इस सक्सेस स्टोरी की शुरुआत महज पांच हजार रुपए से हुई थी। आज उनकी कुल संपत्ति 40 हजार करोड़ के आसपास है। इसी सफलता के कारण झुनझुनवाला को भारतीय शेयर बाजार का बिग बुल और भारत का वॉरेन बफेट कहा जाता है। साधारण निवेशक शेयर बाजार में पैसा गंवाने पर भी भारी मुनाफा कमाते हैं।